खुद पर भरोसा रखिए | trust in yourself

stones 451329 1920 1
 
 मुश्किले बेहतरीन नहीं बेवकूफ लोगों की हिस्से में आती है, क्योंकि बेहतरीन लोगों के लिए कुछ भी मुश्किल नहीं होता और बेवकूफ इंसान हर चीज को मुश्किल बना लेता है।
जरा सा पैर क्या फिसला इल्जाम उसी चप्पल पर लगाया सबने, महीनों तपती जमीन और कांटों से बचाया था जिसने।
 
दोस्तों मतलब निकल जाता है, तो लोगों को बात करने का तरीका भी बदल जाता है, इसलिए लोगों को बातों पर ध्यान देना बंद करो और हमेशा यह चीज ध्यान रखो कि जीवन में हर चीज कठिन होता है।
 
पढ़ाई करना भी कठिन होता है, और अनपढ़ की जीवन भी कठिन होता है। सुबह जल्दी उठना भी कठिन होता है, और बीमार बिस्तर पर भी पड़े रहना कठिन होता है।
नौकरी करना भी कठिन होता है और जेब में पैसा ना हो तो जीवन कठिन होता है।
 
दुनिया में हर चीज कठिन है बस आपको स्वयं अपना कठिनाइयों का चुनाव करना है।
 
किसी ने क्या खूब कहा है, जिंदगी का हिसाब बहुत बार किया लेकिन सुख-दुख का अकाउंट कभी समझ नहीं आया। जब टोटल किया तो पता चला अपने कर्मों की सिवाय कुछ बैलेंस नहीं रहता।
 
सफलता एक वाईफाई की तरह होती।  है मिलती तो हर रोज है, लेकिन कलेक्ट करने के लिए हार्डवर्क नाम का पासवर्ड होना बहुत जरूरी है।
 

और साथ ही साथ जरूरी है यह सीखना जीवन के 5 शिक्षकों से।

जिनका नाम है :

  1. धोखेबाज इंसान
  2. अकेलापन
  3.  असफलता
  4.  अफसोस, 
  5. खाली जेब

धोखेबाज इंसान:

धोखेबाज इंसान से धोखा खाकर इमानदार आदमी को भी धोखेबाज समझ लेते हैं।
 
अकेलापन : अपने अकेलेपन को ताकत को ना पहचान कर उसको अपनी कमजोरी बना लेते हैं.
 
असफलता : अपनी असफलता से यह देखकर उसका रोना रोते रहते हैं।
 
अफसोस  : अफसोस की बात यह है कि लोग इन्हें शिक्षक समझने की बजाय मुसीबत समझ लेते हैं।
 
खाली जेब : और खाली जेब होने पर दूसरों के आगे हाथ फैलाने लगते हैं। बल्कि यह नहीं सोचते कि खाली जेब को कैसे भरा जाए जीवन के तकलीफ कैसे दूर किया जाए। मानव के सबसे बड़ी गलती नहीं होती है।
 
प्रकृति उसे सिखाना तो कुछ चाहती है, लेकिन वह सीख कुछ और ही जाता है। हर बात के बारे में इतना ज्यादा सोचता है कि उसे भी समझ नहीं आता क्या गलत है और क्या सही? और वह जिंदगी को जीना ही भूल जाता है।
 
दोस्तों कभी किसी बात को इतना भी एनालिसिस ना करें के दिमाग को पैरालाइसिस हो जाए। क्योंकि भगवान ने जिंदगी जीने के लिए दिए हैं, पोस्टमार्टम करने के लिए नहीं। सफल होने का सबसे अच्छा तरीका है,  मैं किसी से अपेक्षा करो, और ना ही किसी को उपेक्षा करो।
 
बस थोड़ा सा घमंड उन लोगों के लिए बचा के रखो, जो आपकी नम्रता को नौटंकी समझते हैं। अलमारी और मन वक्त वक्त पर साफ करना जरूरी होता है। क्योंकि अलमारी में गंदगी और मन में गलतफहमी इकट्ठे हो जाती है।
 
कोहरा भी हमें जीवन के बारे में बड़ी सीख सिखाती है, दुनिया में जब दूर का दिखाई देना बंद हो जाए, एक एक कदम चलते रहिए र रास्ता अपने आप खुल जाएगा। बस आपका अपनी मंजिल की तरफ फोकस होना जरूरी है।
 
याद रखीए   आपको वही मिलता, जिस पर आप का फोकस होता है। तुम हमेशा उसी चीज पर ध्यान केंद्रित रखो,  जो आपको जीवन में चाहिए और हमेशा खुद का साथ जरूर दीजिए। लोग साथ दे या ना दे, अगर आप अपने साथ रहोगे तो आपको जीतने से कोई रोक नहीं सकता।
 
दोस्तों जिंदगी में इन्वेस्टमेंट बहुत जरूरी है। पढ़ाई का इन्वेस्टमेंट जीवन बना देता है। मेहनत का इन्वेस्टमेंट कैरियर बना देता है। ईमानदारी का का इन्वेस्टमेंट रिश्ते बना देता है। जीवन में कुछ पाने के लिए कुछ देना जरूरी है।
 
आप अपने समय और ऊर्जा केवल सही लोगों को दीजिए। सही जगह और सही तरीके से लगाया गया कोई भी इन्वेस्टमेंट आपको हमेशा अच्छे रिटर्न देता है। दोस्तों, सारे बात को एक ही सारे है कि हर इंसान के अंदर एक ना एक पहचान जरूर होता है। लेकिन उससे वह दूसरों की नकल करने में दूसरों जैसे बनने में नष्ट कर देते हैं।वो यह चीज भूल जाता है कि दिमाग इंसान की सबसे शक्तिशाली चीज है।
 
अगर आप सकारात्मक दिमाग के साथ सोचना शुरू करते हैं तो आपका जीवन भी बदल जाता है। और आपको अपने सारे लक्ष्य भी प्राप्त होने लगते हैं। यह बात सत्य है कि हर इंसान के अंदर कमियां होती है। लेकिन याद रखने वाली बात यह है कि कमियां विश्वास से दूर की जा सकती है।
 
कमियां भले ही हजार है, लेकिन आप खुद पर विश्वास रखते हैं तो आप सबसे बेहतर करने का हुनर रखते हैं। तुम्हे।जीवन में अगर कुछ हासिल नहीं हुआ है तो यह बात याद रखी है अगर सब कुछ मिल जाए जिंदगी में तो तमन्ना किसकी करोगे।
 
कुछ अधूरी ख्वाहिश ही तो जिंदगी जीने का असली मजा देती है। तो दोस्तों जीवन में जो हासिल हुआ है उसके लिए ईश्वर को धन्यवाद कीजिए। जो हासिल ना हो सका है उसको पाने के लिए प्रयास कीजिए। और सबसे जरूरी बात खुद पर विश्वास बनाए रखिए। लोगों को बात पर अगर आप ध्यान  दोगे तो अपनी मन की आवाज को नहीं सुन पाओगे।    

Leave a Reply