Nicholas Stephen Alkemade ने 18,000 फ़ीट ऊपर आसमान से छलांग लगाकर कैसे जान बचाई हिंदी में |

Nicholas Stephen Alkemade

24 मार्च 1944 की रात को,21 वर्षीय निकोलास स्टेफेन Avro Lancaster BMK बम बर्षक विमान के सात चालक दल के सदस्यों में से एक था। DS 664, 115 Squadron RAF.

जब DS664 Berlin पर Raid पूरा करने के बाद लौट रहे थे तभी जर्मनी के नाईट फाइटर विमान JU88 ने आक्रमण कर दिया। DS664 में आग लग गई और विमान ने अपनी कण्ट्रोल खो दी।

नामनिकोलस स्टीफेन अल्केमाडे
जन्म10 दिसंबर 1922 Loughborough Leicestershire England
मृत्यु22 जून 1987 Liskeard Cornwall England
AllegianceUnited Kingdom
BranchRoyal Air Force
RankFlight Sergeant
Unit No. 115 Squardon RAF
WarsSecond World War

विमान में आग लगने की वजह से प्यारासूट भी जल गया।विमान के अंदर आग और तेजी से बढ़ने लगा। तभी Nicholas Stephen Alkemade ने बिना प्यारासूट हीं, 18,000 फ़ीट ऊपर उड़ रहे विमान से छलांग लगा दी। Nicholas आग में जलकर मरने की बजाय कूदकर मरना पसंद किया।

वह एक Pine के पेड़ के ऊपर गिरा और निचे वर्फ की चादर थे। इतने ऊपर से गिरने के वाबजूद भी अपनी हाथ पैर चलाने में सक्षम थे। बस उसके एक पैर में मोच आई। Lancaster आग में जलकर दुर्घटनाग्रस्त हों गया। विमान के साथ साथ पायलट Jack Newman और चालक दल के बाकी सदस्यों का भी मौत हों गई। उन सभी को CWGC के Hanover युद्ध कब्रिस्तान में दफनाया गया।

बाद में Nicholas Stephen को Gestapo द्वारा गिरफ्तार किया गया। और उसका इंटरव्यू लिया गया। जबतक दुर्घटनाग्रस्त एयरक्राफ्ट के मलबे को जांच नहीं किया गया तब तक उसकी बात को कोई सच मानने के लिए तैयार नहीं था। जाँचपड़ताल करने के बाद Nicholas Stephen Alkemade को गवाही देने का प्रमाण पत्र दिया गया। 1945 में इंग्लैंड वापस आने ऐ पहले वह एक सेलिब्रेटी कैदी थे।

युद्ध के बाद Nicholas Stephen Alkemade एक केमिकल फैक्ट्री में काम किया। वह ITV सीरीज का एक Just Amazing प्रोग्राम में भी दिखाई दिया। जहाँ पर उन्होंने मोटरसाइकिल रेसर Barry Sheene से मुलाक़ात की।

यह भी जरूर पढ़े: संदीप महेश्वरी का जीवन परिचय

Leave a Reply