8-Secrets of success being Alone in Hindi

  • by
8-Secrets of being Alone in Hindi

सफलता की 8-रहस्य :

 हर किसी के जीवन में एक ऐसा बंदा जरूर होता है, जो पैदा होने से लेकर मरते दम तक साथ में होते हैं, और वह होता है वह खुद। अपने खालीपन को पावरफुल अकेलेपन में या एकांत में कैसे बदलें। यह बात भी इस पोस्ट को अंत में आपको मालूम हो जाएगा।     

  हम जानेंगे कि अकेले रहने वाले लोग के 8 – क्वालिटीज क्या है? यह इंसान को तभी हासिल होता है जब वह अकेले में समय बिताता है।  

  1. Unic Personality सबसे अलग व्यक्तित्व 

8-Secrets of being Alone in Hindi

Unic Personality

 अकेले रहने वाले लोग यूनिक होते हैं। सबसे अलग होते हैं। यह खासियत है अकेले रहने वाले लोगों की। देखी आपने कितनी बार सुना होगा कि यह सब लोगों ने कुछ न कुछ खास होता है। लेकिन, उस खासियत का पता तब चलता है, जब कोई बंदा अपने साथ में खुद के साथ में समय बिताता है। जो बंदा ज्यादा दुनियादारी से मतलब रखता है, तो उसका खुद का जो एक्जिस्टेंस है, उसको महसूस नहीं होता।     

 वह दूसरों लोगों की charector से इतना प्रभावित हो जाते हैं, उसकी जो वास्तविक गुड है, वास्तविक कला है, गुम हो जाती है। जबकि जो अकेला रहना पसंद करता है, उसकी अपनी एक शख्सियत होती है। अपनी एक अलग पहचान होती है। क्योंकि उसके खुद से अलग  नियम कायदे होते हैं। वह बिना किसी से प्रभावित हुए हैं, अलग ढंग से जीता है।  

2. Positive Attitude  सकारात्मक दृष्टिकोण

8-Secrets of being Alone in Hindi

Positive Attitude

   अकेले रहने वाले लोगों की दूसरा क्वालिटी है, Positive Attitude सकारात्मक दृष्टिकोण, जब आप लोगों के बीच में रहते हो तो वहां पर क्या होते हैं, अंदर ही अंदर बहुत ही ज्यादा एक दूसरे से तुलना होते हैं। एक दूसरे की चुगली भी होती है। दूसरों में अगर आपको एक भी खूबी दिख जाती है, तो आपकी अंदर एक नकारात्मक भावना पैदा होता है, कि यार मेरे अंदर तो यह चीज है ही नहीं।       

जब आप अकेले रहते हो, तब आप इस तुलनात्मक स्थिति से दूर रहते हो। आपको कोई जज नहीं कर रहा होता, और ना ही आप किसी को जज कर रहे होते हो, कि उसमें ऐसे  कमी है और मेरे में ऐसी कमी है। उसी वक्त जब आप अकेले रहते हो, खुद के साथ समय बिताते हो, तो आपको अपने अंदर झांकने का मौका मिलता है। आपके पास पूरा टाइम होता है। आप खुद  के बारे में जान सकते हो। खुद के बारे में खंगाल सकते हो।    

  कि मेरे में क्या अलग है दूसरों से। ऐसी क्या चीज है, जो मुझे  औरों बेहतर बनाती है। दूसरों से अलग बनाती है। तो जब आप खुद को पहचानने लगोगे। तो आप को अंदर से पॉजिटिव एनर्जी महसूस होगी।  

3. Self Respect  आत्मसम्मान 

8-Secrets of being Alone in Hindi

Self Respect

   अकेले रहने वाले लोग अकेले रहने की वजह से किसी के मुंह नहीं लगते। और किसी के मुंह नहीं लगेंगे लोग उनकी इज्जत करेंगे। अगर आप बहुत सारे लोगों से उलझें रहते हो, तो आपकी इज्जत वहां कम होने लगती है। लोग आप को हल्के में लेने लगती है।         

4. Creative Mind  रचनात्मक दिमाग़ 

8-Secrets of being Alone in Hindi

Creative Mind

   अकेले रहने वाले लोगों के चौथी क्वालिटी है क्रिएटिव माइंड यानी कि रचनात्मक दिमाग। अकेले रहने वाले लोग ज्यादा क्रिएटिव होते हैं। इस चीज पर आपको इंटरनेट पर रिसर्च मिल जाएंगे। अकेले रहने वाले लोगों को दिमाग को सोचने को टाइम मिलता है।       

  दूसरों से बाधाएं कम होती है। डिस्ट्रैक्शन कम होता है। इसलिए वह ज्यादा क्रिएटिव है।  

5. Self Dependent  आत्मनिर्भर 

8-Secrets of being Alone in Hindi

Self Dependent

   यानी कि वो किसी के अहसानों तले दबे नहीं रहते हैं। क्योंकि उसे किसी पे डिपेंड नहीं रहना पड़ता। अकेले रहने वाले लोग किसी भी काम के लिए, किसी भी जरूरत के लिए, दूसरों पर निर्भर नहीं रहते हैं। वह अपनी जरूरत अकेले ही पूरी करना अच्छी तरह जानते हैं।     

  और यह बहुत अच्छी बात है। आज कल की दुनिया में बहुत सारे लोग स्वार्थी हैं। उनसे आप कोई थोड़ी सी भी हेल्प ले ली, वह हमेशा गिनाते रहेंगे। लेकिन, जो अकेले रहते हैं  सेल्फ डिपेंडेंट। वह किसी के अहसानों तले नहीं दबते ।  

6. Mentally and Emotionally Strongness  मानसिक और भावनात्मक ताकतवर 

8-Secrets of being Alone in Hindi

Mentally and Emotionally Strongness

   अकेले रहने वाले लोग भावनात्मक और मानसिक रूप से ताकतवर होते हैं। क्योंकि उनको पता है, कि आज अगर उन पर कोई प्रॉब्लम आती है, तो अकेले ही उनको को उस मुसीबत से बाहर आना है। ऐसा बार बार करने से आपके अंदर कॉन्फिडेंस आता है। कॉन्फिडेंस से आप मानसिक और भावनात्मक रूप से मजबूत होते हो।  

 क्योंकि आपको पता है। ऐसा कोई समस्याएं नहीं है। जिसको आप अब हल नहीं कर सकते हो।  

7. More Productive  अधिक उत्पादक

8-Secrets of being Alone in Hindi

More Productive

 अकेले रहने वाले लोगों को किसी तरह की बाधाएं नहीं होती है। उनको ना कोई रोकने वाला होता है। इस वजह से वह अपना बेस्ट इनपुट दे पाते हैं। वह एक नॉर्मल इंसान से ज्यादा मेहनत कर पाते हैं।       

8. High Success Rate  ज्यादा सफल होने की संभावना 

pexels george harrell 4157474

High Success Rate

 अकेले रहने वाले लोगों की सक्सेस रेट ज्यादा होती है। अकेले रहने वाले लोगों की सफलता के चांस ज्यादा रहते हैं। क्योंकि उसके खुद के अपने फंडामेंटल होते हैं। खुद के नियम होते हैं। अकेले रहने की वजह से उनके पास खुद को देने के लिए बहुत टाइम होते हैं। जिससे वह अपनी लाइफ को  अच्छी तरह से प्लान कर सकता है। टारगेट सेट कर सकते हैं समझ सकते हैं।       

 और खुद को समझ के जो कोई बंदा प्लानिंग करता है, जब उसको पता होता है कि मेरा क्षमता क्या है? मेरा क्वालिटी क्या है?  रिस्क लेवल क्या है?  जरूरत है क्या है? कौन सा achievement मेरे लिए सफल है?        

तो जब वो बिना किसी व्यक्ति से प्रभावित हुए, इतनी सारी चीजें खुद के अंदर कंसीडर करते हुए, अपने लक्ष्य के पीछे भागते हैं तो उसके सफल होने के चांसेस एकदम से बढ़ जाते हैं।  

 अकेले कैसे रहे:
8-Secrets of being Alone in Hindi

Self confidence Development

 दोस्तों, अकेले रहना का मतलब यह नहीं है, कि आप अपने घर पर मम्मी पापा से भी अलग रहे। फैमिली से अलग रहे। अकेले रहने का मतलब है, जो नकारात्मक भावना वाले लोग अपनी तरफ,जो फालतू के टाइम पास करने के लिए, अपने लोगों के सर्किल बना रखा है। जो  आप सोशल मीडिया पर, दूसरों लोगों से उलझते रहते हो। उन सब से अलग होकर अपने आप से, अपने टाइम को, अपने और अपनी फैमिली के लिए स्पेंड करना।  अपने सपनों के लिए समय बिताना।    

  दोस्तों मैं यह नहीं कहता कि सफल होने के लिए अकेले रहना जरूरी है। ऐसे तो कोई क्रिकेटर ही नहीं बन पाएगा। क्योंकि उसमें टीम वर्क चाहिए। लेकिन, अगर आप परिस्थिति बस अकेले हो। परिस्थिति बस  अकेला के मतलब, आप कोई कारण से, या फिर हमेशा अपने लिए अलग से टाइम निकालते हो।    

   इस बात को समझो। जैसे मान लो सुबह एक घंटा पहले उठ गए। उसमें सिर्फ खुद के बारे में सोचा। उस टाइम अपने सिर्फ खुद के बारे में सोचा, खुद के अंदर झांका।  तो इसको बोलेंगे अकेला रहना। अलग रहना। और इसको मैं बोलूंगा एकांत में रहना।    

  और सबसे बड़ी बात अकेले रहने का मतलब है खुद से जुड़ कर रहना। हर टाइम अकेले रहना जरूरी नहीं है। लेकिन दिन में कम से कम एक दो घंटा खुद की लाइफ को एनालाइज करो। खुद के अंदर झांकने की कोशिश करो।    

 कि करना क्या चाहते हो, और क्या रहे? खुद में बार-बार झांकते रहो। की दुनिया के चक्कर में आपकी अपनी खुद की एक्जिस्टेंस तो गायब नहीं हो। रही।आपकी जो खुद की जो वैल्यूज हैं, आपकी इज्जत है। कहीं वह दूसरों की वजह से बाधित तो नहीं हो रही है।       

दूसरों का ख्याल रखते रखते कहीं आप अपना ख्याल रखना तो नहीं भूल गए। तो अगर ऐसा है तो खुद के लिए टाइम निकालो। दिन में जब भी आपको टाइम मिले, खुद के बारे में सोचना शुरू करो। धीरे-धीरे आप खुद को समझने लगो गे।  

 मैं आशा करता हूं कि आपको यह पोस्ट पसंद आया होगा। यह पोस्ट उन दोस्तों को जरूर शेयर करना जो डिप्रेशन में है और अकेला महसूस करता है। क्योंकि वास्तव में उनको यह मालूम नहीं है कि और लोगों से अलग है और लोगों से बेहतर है।        

Leave a Reply