13-टिप्स एक अच्छी पत्नी बनने की |13-Tips To Become a Good Wife in Hindi

एक अच्छी पत्नी कैसे बने How To Become a Good Wife in Hindi

13-टिप्स एक अच्छी पत्नी बनने की ( Tips To Become a Good Wife )

यह पोस्ट निम्नलिखित विषयों को कवर करेगी :

आज हम बात करेंगे की आप एक अच्छी पत्नी कैसे बन सकते हैं? ( Tips To Become a Good Wife ) ये बहुत हीं महत्वपूर्ण सवाल हैं। हो सकता हैं आपके लाइफ पार्टनर बहुत हीं अच्छे और आदर्श पति हो, फिर भी आपको किसी भी परिस्थिति में एक अच्छी पत्नी होना महत्वपूर्ण हैं। क्योंकि एक अच्छे रिश्ते के लिए दोनों पक्षों पर सद्भावना होना महत्वपूर्ण हैं।

यदि आपका रिश्ता आपके पति पर केवल एक कमेंट्री हैं, तो मेरा मानना हैं की आपका रिश्ता कुछ हीं दिनों में उबाऊ हो जाएगा और आपके रिश्ते आगे बढ़ना मुश्किल हो जाएगा। विशेष रूप से भारत और नेपाल जैसे देश में, जहाँ हर कोई चाहता हैं की उनकी जोड़ी भगवान महादेव पार्वती की तरह होनी चाहिए। एक पत्नी की अच्छी समझ होने का मतलब बहुत हैं।

एक अच्छी पत्नी अपने परिवार की नींव होती हैं।किसी की भी परिवार को एक अच्छी पत्नी के बिना कल्पना किया नहीं जा सकता हैं। इस लेख में हम इस तथ्य पर जोर दें रहें हैं की एक अच्छी पत्नी ईमानदार और बुद्धिमान होते हैं। इसका मतलब यह नहीं हैं की पति को समझदार होना जरूरी नहीं हैं। एक खुश परिवार की नींव पति और पत्नी दोनों पर निर्भर करती हैं।

पति और पत्नी एक गाड़ी के दो पहियों के तरह होती हैं, अगर एक पहिया ख़राब हो जाये तो गाड़ी आगे नहीं चल सकती। अपने पति के साथ अच्छा संबंध रखने के लिए,आपको एक अच्छी पत्नी बनना बहुत आवश्यक हैं। आपकी छोटी से छोटी बाते भी  आपके पति के साथ साझा करें। कोई भी मुसीबत खड़ी हो जाए,अपने पति के साथ सही तरीके से सही समय पर साझा करें। और सबसे बड़ी बात तो यह हैं की आप अपने आपको अपने पति का एक अच्छा दोस्त साबित करें।  

1.अपनी भावनाओं और जरूरतों को आपकी पति के साथ प्रभावी ढंग से व्यक्त करें ( Tips To Become a Good Wife )

हमेशा यह बात ध्यान में रखें की आपके पति के पास कोई भी ऐसी शक्ति नहीं हैं की वह आपके मन की बात जान सके!अगर आप  चाहते हैं की आपकी बात आपके पति तक पहुंचे, तो इसे साफ साफ कहने की आदत डालें। यदि आपको लगता हैं की कुछ गलत हो रहा हैं तो नफरत करने की बजाय पति के साथ बैठ के बातें करें।

यदि आप अपनी बातें पति के साथ साझा करेंगे तो आपके पति को भी अच्छा लगेगा। वे आपके भावनाओं को समझ पाएंगे। लेकिन यह हमेशा ध्यान रखें, की अपने बारे में बात करते समय सही तरिके से, सकारात्मकता से करें साथ हीं साथ अपने पति के बात भी ध्यान से सुनें। ये कभी मत सोचें के मेरा हीं निर्णय सही होना चाहिए।

 आपकी बात आपके पति के साथ, आपके परिवार के साथ एक समाधान के रूप में रखें। इससे सभी मन मे आपके प्रति भरोसा बढेगा। परिवार में आपकी बातें अच्छी तरह से सुनी जाएगी।  

2.झगड़ा मत करो ( Tips To Become a Good Wife )

मेरा विश्वास करें,आपके पति के साथ झगड़ ने से कोई मतलब नहीं बनता। किसी भी चीज के बारे में झगड़ के लाभ नहीं होगा। यदि आप हर समय छोटी छोटी बातें में भी पति के साथ झगड़ते रहेंगे तो कुछ समय के बाद आपकी बातें आपके पति पर कोई प्रभाव नहीं छोड़ सकेगा। आपकी बातें अनसुनी कर दिया जाएगा।

यदि आप अपने पति के छोटी छोटी बातें भी स्वीकार नहीं करते हैं और झगड़ते हैं, तो धीरे धीरे आपके रिश्ते की मिठास दूर हो जाएगी। यदि आप चाहते हैं की आपके पति आपकी बातें सुनें तो पति के कामों को सराहना करने की आदत बनाएं। इससे आपके रिश्ते में प्यार और मिठास बना रहेगा।  

3.समझदार बने, अपने पति की चीजों को समझने की कोशिस करें

ज़ब भी आप अपने पति के साथ किसी भी महत्वपूर्ण विषय पर बातें कर रहें हो तो आपको अपने गुस्से पर काबू रखना चाहिए क्योंकि कई बार गुस्से में कहे गए बात के लिए बाद में बहुत पछताना पड़ता हैं। इसके के विपरीत यदि आप किसी भी बात ठंडे दिमाग़ से शांत होकर सुनेंगे तो आप किसी और को बातों को ज्यादा समझ पाएंगे। मेरी राय में, शायद हीं कोई ऐसा पति या पत्नी होंगी जो हर चीज में एक दूसरे से सहमत हो।

लेकिन हर चीज झगड़ ने की बजाय,यदि आप एक दूसरे को समझने की कोशिस करते हैं तो यह बेहतर होगा। और महिलाओं को तो हमेशा ये सब चीजों को ख्याल रखना चाहिए ताकि वे एक अच्छी पत्नी साबित हो सके। जब भी आपको अपने पति के साथ कुछ कहना हो, तो अवसर देख के शांति से कहे। जैसे की आपको अपने बच्चों के सामने पति के साथ झगड़ना नहीं चाहिए।

अक्सर महिलाओं की आदत होती हैं की अपने गलतियों को स्वीकार नहीं करती। यदि आप गलत हैं तो अपनी गलती स्वीकार करें। नहीं तो आप एक अच्छी पत्नी साबित नहीं हो पाएंगे। गलती स्वीकार करने से आप छोटे नहीं बन जायेंगे बल्कि आप अपने पति के सामने और अच्छे बन जायेंगे।आपके पति को आपके प्रति भरोसा,विश्वास और बढ़ जाएगा। आपके रिश्ते में, आपके परिवार में खुशियाँ बनी रहेगी।   

4.अपने पति से संबंधित कोई भी समस्याएं बाहर ना करें 

एक लड़की को हमेशा यह बात ध्यान में रखना चाहिए की उसकी सबसे पहली प्राथमिकता उसका पति हैं,न की उसकी परिवार हैं। यदि आपको अपने पति के साथ कोई शिकायत हैं, तो अपने पति को शांत मन से कहे। इससे आपकी समस्या जल्द समाधान होंगे। वहीं पर यदि आप अपनी समस्याएं पति को ना बताकर बाहर जाकर बोलेंगे या अपने दोस्तों के साथ साझा करंगे तो आपकी रिश्तों में असमझदारी बढ़ेगी।

हो सकता हैं, आपके दोस्तों आपको अच्छी तरह से समझते हो और आपके लिए बेहतर सोंचते हो। लेकिन कोई भी आपके और आपके पति के बिच के संबंध आप से बेहतर नहीं जानते।

5.एक यथार्थवादी उम्मीद रखें अपनी इच्छाओं को जहाँ तक हो सकता हैं पूरा करें

हर इंसान की इच्छाए निराशाजनक होती हैं। लेकिन हर इच्छाओं को पूरा करना भी संभव नहीं होता। यदि आपके इच्छाए बढ़ती हीं रहती हैं तो ए आपके खुशहाल जीवन को ख़राब कार सकती हैं। इसलिए अपने इच्छा आकांक्षाओं को ध्यान में रखें। यदि आप चाहते हैं की आपके पति 100% समय आपके साथ बिताएं तो यह संभव नहीं होगा।

इसी तरह अगर आप अपनी दोस्तों के तरह जीवन जीना चाहते हैं तो यह सही नहीं होगा क्योंकि शायद आपके दोस्तों का परिवार अलग हैं और हो सकता हैं उसका आर्थिक स्थिति भी आपसे अलग हो।  

6.अपने पति को छोड़ने या बदलने की कोशिस ना करें

याद रखें, आप जैसे हैं वैसे हीं खुद को स्वीकार करने की आदत बनाएं। यदि आप अपने पति को उसी तरह मोड़ना चाहते हैं,जैसा आप हैं,तो यह संभव नहीं होगा। ऐसा करने से आपके परिवार में असमझदारी बढ़ेगी और परेशानी भी बढ़ेगी। यदि आप किसीको स्वीकार करने की कोशिस करेंगे तो वह भी आपके अनुसार खुद को बदलने की कोसिस करेगा और आपको समझने की कोसिस करेगा।

हमेशा ध्यान में रखें की आपका पति आपसे अलग इंसान हैं। उसकी अपनी अलग पहिचान हैं। उसका जीने का अलग अंदाज हैं। यह संभव नहीं होगा की आप उसकी हर आदत को तुरंत अपने अनुसार बदल लें। कई बार ऐसा देखा गया हैं की घर के कामों में मदद करने के लिए आप अक्सर अपने पति पर हावी हो जाई हैं,लेकिन ध्यान रखें की अगर आप सिर्फ एक गृहणी हैं तो आपके पति पर ऑफिस और घर दोनों के जिम्मेदारी होती हैं।

हो सके तो घर के सारे जिम्मेदारियां उठाने के कोसिस करें और इसे झंझट ना कहके आसानी से स्वीकार करें। यदि अगर आप कामकाजी महिला हैं तो आपकी अपनी खुद की दैनिक दिनचार्य बनना चाहिए और इसे अपनी घर में सभी को बताना चाहिए ताकि सभी आपको समझ सके और आप सभी को समझ सके और आपके घर के काम में कलह ना हो।इससे आप अपने  पति को समझ पाएंगे।  

7.परिवर्तन को स्वीकार करें और समय के साथ खुदको परिवर्तन करें

ज़ब पति पत्नी होते हैं, तो आप अपने जीवन के कई संकट जैसे परिवार से जुड़ी समस्याएं या आर्थिक संकट एक साथ देखते हैं। इसलिए ऐसी स्थितियों में अलग अलग व्यक्तिओं होने के बजाय सभी स्थितियों को एक साथ स्वीकार करने का प्रयास करें।

अगर आप किसी भी समस्या को एक साथ हल करते हैं तो यकीन मानिए, यह समस्या आपको समस्या जैसा भी ना लगेगा और बहुत जल्द भी खत्म हो जाएगा। परिवार में बच्चे के आगमन के वाद परिवार में बहुत कुछ बदल जाता हैं।  

8.यह स्वीकार करें कि बच्चे होने से रिश्ता बदल जाता हैं

ज़ब भी आपके परिवार में कोई नया सदस्य आता हैं,तो आपके  दिनचर्या में बदलाव आना स्वाभाविक हैं। अगर अगर वो नया सदस्य आपका बच्चा हैं, तो आपका ध्यान अधिक आकर्षित होना स्वाभाविक है। बच्चे के आने के बाद बदलाव होते हैं, लेकिन इसका  मतलब ये नहीं हैं, की ये बदलाव नकारात्मक होंगे।

चाहे जो भी बदलाव हो महत्वपूर्ण बात यह है, की आप दोनों का एक दूसरे से ज्यादा अपने बच्चे के प्रति पूरा ध्यान आकर्षित होता हैं।और इसमें संतुलन बनाने के लिए आपको कुछ बदलाव करने चाहिए ताकि आपका परिवार एक साथ समय बिता सके। हो सके तो अपने परिवार के लिए ग्रुप एक्टिव प्लान बनाएं। अपने बच्चों को दोनों एक साथ संभाले और उन्हें समय दें।  

9.अपनी आपसी गलती को स्वीकार करें

अगर आप एक अच्छी पत्नी बनना चाहती हैं,तो अपने पति को गलतियों को स्वीकार करें। और अगर आपके पति गलती स्वीकार करता हैं तो उन्हें माफ़ करने की आदत डालें। इसके विपरीत यदि आप किसी बात को लेकर जिद करके बैठती हैं और अपने पति को गलती को भूलने के लिए तैयार नहीं हैं,तो यह आपके रिश्ते को भी ख़राब कार सकती हैं।

इन सबके साथ अपनी गलतियों को भी स्वीकार करें। यदि आप अपने आप को एक परफेक्ट पत्नी बनाने के दौड़ में अपनी गलतियों को स्वीकार नहीं करते हैं, तो आप एक अच्छी पत्नी बनने की अपने प्रयास में असफल होंगे और इससे आपकी रिश्ते में दूरिया आ सकती हैं।   10.खुद से समझौता किए बिना अपने पति की जरूरतों का ख्याल

रखें

अपने पति की हर जरूरत को पूरा करने की कोशिश करें,लेकिन ध्यान रहें कि आप अपने पति पर ध्यान देने के मामले में अपनी पहचान न खोएँ। कई बार ऐसा होता है, की होता हैं की आपका पति अपने दोस्तों के साथ या अपने ऑफिस में समय बिताना चाहता हैं, तो उसे ऐसा करने से न रोकें और आपको अपने दोस्तों के साथ कुछ अलग प्लान भी करना चाहिए। ऐसा करने से आप अपनी दिनचर्या से बोर नहीं होंगे और आपको अपने रिश्ते के लिए एक समझ होंगी।  

11.अपने पति के सबसे अच्छे दोस्त बनने की कोशिश करें

ज़ब आपके पति के साथ मैत्रीपूर्ण संबंध होते हैं, तो आपके रिश्ते में समझ और खुलापन और भी बढ़ जाता हैं। अगर आप अपने पति की सबसे अच्छी दोस्तों बनना चाहती हैं, तो उसके बारे में सबकुछ सुनें, उसके साथ सबकुछ साझा करें।

उनके साथ कोई पुराने किस्से साझा करें। और याद रखें, ज़ब वह आपके साथ एक दोस्तों की तरह कुछ बातें साझा करते हैं, तो उसे एक दोस्त के रूप में समझने की कोशिस करें और उसे पारिवारिक विवाद का विषय ना बनाएं।  

12.अपने सपने को पति के साथ साझा करें

आप क्या चाहते हैं, अपने पति के साथ साझा करने की आदत डालें। ज़ब आप अपने जीवन के सपनों को अपने पति के साथ साझा करते हैं,तो वह आपको अच्छी तरह से समझना शुरू कर देता हैं।  

13.तनाब का प्रबंधन करने के लिए एक साथ काम करें

जब आप एक परिवार की तरह हों तो एक-दूसरे के काम में हाथ बटाने की आदत डालें। ज़ब आपके पति ऑफिस से बहुत थककर घर आते हैं, तो उसे अतिरिक्त देखभाल करें और आपको समय न दें पाने के कारण पति से कलह ना करें।   दोस्तों, अंत में ये बताना चाहता हूँ की यदि आपके पत्नी में ये सब गुण है तो आप बहुत ही भाग्यशाली है ।  और आखिर में यह पोस्ट कैसा लगा कृपया कमेंट में जरूर बताएं ।

Leave a Reply